पीएम मुद्रा लोन की सीमा दोगुनी कर 20 लाख की घोषणा कैंसर की 3 दवाओं पर नहीं लगेगी कस्टम ड्यूटी, निर्मला सीतारमण का ऐलान देश में उच्च शिक्षा के लिए 10 लाख रुपये लोन की घोषणा 'दुकानदारों को अपनी पहचान बताने की जरूरत नहीं'- कांवड़ यात्रा नेमप्लेट विवाद पर सुप्रीम कोर्ट
‘मिर्जापुर’ को भूल जाएंगे...इस सीरिज को देखकर, तीसरे सीजन ने ओटीटी पर काटा बवाल

मनोरंजन जगत

‘मिर्जापुर’ को भूल जाएंगे...इस सीरिज को देखकर, तीसरे सीजन ने ओटीटी पर काटा बवाल

मनोरंजन जगत/सिनेमा/Maharashtra/Mumbai :

अगर आप वेब सीरीज ‘मिर्जापुर’ के तीसरे सीजन के इंतजार में हैं, तो आपको एक बार ‘अनदेखी’ जरूर देखनी चाहिए। ये एक दमदार वेब सीरीज है, जिसे देखने के बाद, आप ‘मिर्जापुर’ को भी भूल जाएंगे। हाल ही में, इस सीरीज का तीसरा सीजन ओटीटी प्लेटफॉर्म सोनी लीव रिलीज किया गया है।

वेब सीरीज ‘मिर्जापुर’ के 2 सीजन आ चुके हैं। अब दर्शकों को इसके तीसरे सीजन का बड़ी बेसब्री से इंतजार है। वहीं, इसी बीच एक और वेब सीरीज का तीसरा सीजन रिलीज किया जा चुका है, जिसका नाम है ‘अनदेखी’। ‘अनदेखी’ को सोनी लीव पर देखा जा सकता है और यह एक ऐसी वेब सीरीज, जिसे देखने के बाद आप ‘मिर्जापुर’ को भी भूल जाएंगे। ‘मिर्जापुर’ की तरह यह भी एक क्राइम थ्रिलर वेब सीरीज है, जिसके पहले सीजन का प्रीमियर 10 जुलाई, 2020 को सेनी लीव पर हुआ था।
यह अप्लॉज एंटरटेनमेंट और एजस्टॉर्म वेंचर्स द्वारा निर्मित है। यह सीरीज समाज के दो पहलुओं को दर्शाती है, पहला सत्ता के नशे में धुत्त प्रभावशाली लोग जो सोचते हैं कि वे किसी भी चीज से बच सकते हैं और दूसरा उत्पीड़ित, वर्षों तक यातना झेलने वाले लोग, जो अंत में खुद को न्याय दिलाने का फैसला करते हैं। पहले सीजन की सफलता के बाद, मेकर्स ने इसके दूसरे सीजन पर काम करना शुरू कर दिया था और 4 मार्च 2022 को इसका दूसरा सीजन भी लोगों को देखने को मिला था। वहीं, दूसरे सीजन के बाद, लोगों में इसके तीसरे सीजन को देखने की ललक बढ़ गई थी।
आखिरकार, इसके तीसरे सीजन को भी मेकर्स ने 10 मई, 2024 को रिलीज कर दिया था। जब से इसका तीसरा सीजन सामनने आया है, तब से इसका जलवा भी ओटीटी पर देखने को मिल रहा है। ऑरमैक्स मीडिया की ‘टॉप-10 ओटीटी ऑरिजनल्स इन इंडिया’ की लिस्ट में यह तीसरे नंबर पर है, जिससे साफ पता चलता है कि इंडिया यब बज बनाने में सफल साबित हुई है।
इस सीरीज की कहानी सुंदरबन में शुरू होती है, लेकिन जल्द ही मनाली की ओर तब्दील हो जाती है। 30 मिनट से भी कम समय में, दर्शक दो हत्याएं देखते हैं। डीएसपी बरुण घोष (दिब्येंदु भट्टाचार्य) सुंदरबन में एक पुलिसकर्मी की हत्या की जांच कर रहे हैं, जिसका शव जंगल में मिला है। दो आदिवासी लड़कियां भाग रही हैं और घोष, जिसे उन पर हत्यारे होने का संदेह है, उनकी तलाश में है।
वैसे, ये पूरी सीरीज ड्रग्स माफिया पर बेस्ड है, जिसमें दिब्येंदु भट्टाचार्य, सूर्या शर्मा, आंचल सिंह, हर्ष छाया, अंकुर राठी, अभिषेक चैहान, ऐन जोया और अपेक्षा पोरवाल के अभिनय के आप दीवाने हो जाएंगे। अगर आप इस सीरीज के पहले सीजन को देख लेंगे, तो तीसरे सीजन को देखे बिना उठ नहीं पाएंगे।

You can share this post!

author

Jyoti Bala

By News Thikhana

Senior Sub Editor

Comments

Leave Comments